Small business ideas in tamil इस खेती ने किसान की बदल दी तकदीर! सिर्फ 3 महीने में कमा रहा 4-5 लाख का मुनाफा, बन गया मालामाल
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Small business ideas in tamil खरबूजे को देख खरबूजा रंग बदलता है….यह कहावत आपने जरूर सुनी होगी. रायबरेली में खरबूजे ने एक किसान की जिंदगी का ही रंग बदल दिया. वह खरबूजे की खेती से ही मालामाल हो रहा है. दरअसल, रायबरेली जनपद के बछरावां थाना क्षेत्र अंतर्गत जलालपुर गांव के रहने वाले प्रगतिशील किसान दिलीप वर्मा बीते लगभग 2 वर्षों से खरबूजे की खेती कर रहे हैं. जिससे वह कम लागत में अधिक मुनाफा कमा रहे हैं.

प्रगतिशील किसान दिलीप वर्मा के मुताबिक वह लगभग 5 एकड़ जमीन पर खरबूजे की खेती कर रहे हैं. क्योंकि यह एक नगदी फसल होने के साथ ही गर्मियों के मौसम में बाजारों में इसकी मांग अधिक रहती है.

Small business ideas in tamil

अच्छी खबर! अब बकरी पालन पर मिलेगा 50 लाख रुपये तक का लोन, ऐसे उठाएं लाभ

जिससे आसानी से इसकी बिक्री भी हो जाती है. वह खरबूजे की चार प्रजातियां बाबी, मृदुल, निर्मल- 24, मधुरा की खेती करते हैं. यह प्रजातियां उन्नत किस्म की प्रजातियां मानी जाती हैं. जिनकी पैदावार भी खूब होती है Small business ideas in tamil

रिश्तेदार से मिला आइडिया

वह बताते हैं कि लखनऊ जनपद कुर्मिन खेड़ा गांव के रहने वाले उनके एक रिश्तेदार सत्येंद्र वर्मा ने उन्हें इस खेती के बारे में सलाह दी. क्योंकि वह पहले से ही खरबूजे की खेती करते थे.

Agrosolution

किसानों ने की अगर यह गलतियां, तो अटक सकती है पीएम किसान योजना की अगली किस्त

उन्हीं की सलाह पर हमने यह खेती शुरू की. जिससे मानो हमारी जिंदगी ही बदल गई. क्योंकि इसमें अन्य फसलों की तुलना में लागत भी कम आती है. साथ ही इसकी सिंचाई भी कम करनी पड़ती है. यह फसल  90 दिन के अंदर तैयार हो जाती है. Small business ideas in tamil

कम लागत में अधिक मुनाफा

लोकल 18 से बात करते हुए प्रगतिशील किसान दिलीप वर्मा बताते हैं, कि परंपरागत खेती यानी धान गेहूं की फसलों की अपेक्षा इस खेती में लागत भी काम आती है. साथ ही कम समय में यह फसल तैयार हो जाती है. इसमें एक एकड़ में लगभग 50 से 60 हजार रुपए की लागत आती है. Small business ideas in tamil

Agrosolution

सरकार दे रही है 90% Subsidy, ऐसे करे आवेदन

तो वहीं लागत के सापेक्ष 4 से 5 लाख रुपए तक 3 महीने में आसानी से कमाई भी हो जाती है. जो अन्य फसलों की तुलना में काफी अधिक है. आगे की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि खेतों में तैयार फसल की बिक्री के लिए भी उन्हें कहीं आना-जाना नहीं पड़ता है. v थोक के भाव व्यापारी इसे खेत से ही खरीद ले जाते हैं. जिससे उनके आवागमन का भी खर्च बच जाता है. Barrister Dr. How was Babasaheb Ambedkar’s advocacy?

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
error: Content is protected !!