Property transfer online
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Property transfer online लोग अपनी जिंदगी में काफी मेहनत करके जीवन भर की कमाई इकट्ठा करते हैं।लेकिन जब उम्र ज्यादा हो जाती है तो वह अपनी कमाई हुई संपत्ति को अपने बच्चों के नाम ट्रांसफर कर देते हैं।

लेकिन संपत्ति ट्रांसफर करते समय आपको नियमों का पालन करना होता है और यह भी एक कानूनी प्रक्रिया होती है। इसलिए आज हम आपको बताने वाले हैं कि माता-पिता कैसे अपने बच्चों के नाम अपनी संपत्ति ट्रांसफर कर सकते हैं?

Property transfer online

शेतात जायला रस्ता नाही? शेजाऱ्यांने रस्ता अडवला! एकच अर्ज करा 8 दिवसात मिळेल रस्ता

नॉमिनेशन

Property transfer online जब कोई माता-पिता अपने बच्चों के नाम अपनी संपत्ति ट्रांसफर करना चाहते हैं तो उन्हें नॉमिनेशन की प्रक्रिया पूरी करनी होती है। नॉमिनेशन की प्रक्रिया से माता-पिता अपने बच्चों के नाम संपत्ति ट्रांसफर कर सकते हैं। इस तरीके से माता-पिता अपने बच्चों के नाम पर संपत्ति का बंटवारा कर सकते हैं। इसके अलावा माता-पिता कभी नॉमिनेशन में बदलाव करना चाहे तो भी वह कर सकते हैं।

वसीयत

वसीयत प्रॉपर्टी ट्रांसफर करने का एक दूसरा तरीका होता है। माता या पिता द्वारा अपनी संपत्ति की वसीयत बनवाई जा सकती है और उसमें यह लिखा जा सकता है कि उनकी संपत्ति किसके नाम होगी। वसीयत कानूनी तौर पर मान्य दस्तावेज है।

Agrosolution

SBI दे रहा जीरो प्रोसेसिंग फीस पर ₹20 लाख तक का पर्सनल लोन, मिनिमम डॉक्यूमेंट में झटपट होगा क्रेडिट

Property transfer online वसीयत लिखकर कोई भी व्यक्ति अपनी मृत्यु के बाद अपनी संपत्ति किसी भी व्यक्ति को दे सकता है। अगर आप नाबालिग नहीं हैं और मानसिक रूप से ठीक हैं तो भारतीय उत्तराधिकार अधिनियम, 1925 के अनुसार अपनी वसीयत लिख सकते हैं। वसीयत के जरिए संपत्ति ट्रांसफर करना कानूनी तौर पर मान्य है।

इस बात का भी रखें ध्यान

माता पिता की संपत्ति को अपने बच्चों के नाम ट्रांसफर करना चाहते हैं उसके दस्तावेज भी होना जरूरी है।दस्तावेज़ होने से आपको आगे चलकर किसी प्रकार की समस्या नहीं होगी। साथ ही दस्तावेजों के जरिए ये सत्यापन करने में भी मदद मिलती है कि आपकी संपत्ति कौन-कौनसी है।

Agrosolution

घर खरेदीचे नियोजन, बँकेची व कर्जाची निवड कशी कराल? होम लोन कागदपत्रे, पात्रता आणि इतर महत्वपूर्ण गोष्टी..!

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
error: Content is protected !!